Breaking News

आपके पास भी है 5 रुपये का यह ख़ास नोट तो यकीन मानिये आप भी बन सकते हैं रातों-रात अमीर

आज के समय में पैसे की क्या ताकत है यह किसी को बतानें की जरुरत नहीं है। आज के समय में पैसा भगवान से कम नहीं है। आज हर काम इसी की मदद से हो रहा है और हर कोई इसके पीछे ही भागता हुआ दिखाई भी दे रहा है। ऐसे में हर कोई यही चाहता है कि कास उसके पास लाखों-करोड़ों रूपये होते। लोगों को पैसे की कीमत की समझ है, इसीलिए कुछ लोग पहले से ही अपने भविष्य में आने वाली परेशानियों से बचनें के लिए पैसे की बचत करना शुरू कर देते हैं। यह उनके ही नहीं बल्कि उनसे जुड़े सभी लोगों के लिए फायदेमंद होता है।

कुछ लोगों को होता है पुरानी चीजें इकठ्ठा करनें का शौक:

अक्सर हमारे आस-पास कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें पुरानी चीजों को इकठ्ठा करनें का शौक होता है। वह पुरानें डाक टिकट इकठ्ठा करते हैं। उन्हें नोटों को भी इकठ्ठा करने का शौक होता है। कई लोगों के पास नोटों के चलन से लेकर अब तक का पूरा कलेक्शन रखा हुआ भी मिल सकता है। हालांकि ऐसा कोई है भी इसके बारे में हम कुछ नहीं कह सकते हैं। जिन लोगों को इस तरह की शौक होती है, कई बार उनकी यह शौक उनके लिए फायदेमंद साबित हो जाती है।

नोटों पर लिखे ख़ास नंबर की वजह से लोग खरीदतें हैं नोट:

पुरानें नोटों की नीलामी होती है। जो लोग इस तरह की नोटों को इकठ्ठा करनें के शौक़ीन होते हैं, वह इसके लिए मोटी रकम भी देते हैं। कई बार नोटों में लिखे हुए किसी ख़ास नंबर की वजह से भी लोग उसे खरीदना चाहते हैं। ऐसे में अगर आपके पास भी इस तरह का कोई नोट होगा तो आप एक पल में ही मालामाल हो जायेंगे। आज हम आपको ऐसे ही एक 5 के नोट के बारे में बतानें जा रहे हैं। जी हाँ हम 5 के उस नोट की बात कर रहे हैं, जिसपर ट्रैक्टर बना होता है।

5 के इस एक नोट से बन सकते हैं अमीर:

कई जगहों पर इन नोटों की कीमत लाखों में बताई जाती है। हालांकि ऐसा है या नहीं आज हम आपको इसके बारे में ही बतानें जा रहे हैं। कीमत बतानें से पहले हम आपको इस नोट से जुड़े कुछ तथ्यों के बारे में बतानें जा रहे हैं। सबसे पहले इस नोट को हमारे देश में 24 मार्च 1975 को चलाया गया था। उस समय आरबीआई के गवर्नर एस. जगनाथन थे। इस नोट के पहले हमारे देश में 5 ने हिरण वाले नोटों का चलन था। इन नोट का रंग हरा और संतरी है। अगर आप इस नोट को सामनें से देखेंगे तो एक गुलाबी रंग के घेरे में आपको 5 लिखा हुआ दिखाई देगा।

कुछ नोट बिक जाते हैं केवल गवर्नर के सिग्नेचर की वजह से:

इसके बायीं तरफ वॉटरमार्क से अशोक स्तम्भ बना हुआ है। नोट के निचे की तरफ आरबीआई का लोगो बना हुआ है। जिन नोटों में दो बार 786 होता है, उन नोटों की कीमत 4 हजार रूपये है। यह भी बताया जा रहा है कि जिन नोटों की कटाई या छपाई में मिसप्रिंट हो गया है, वह भी हजारों में बिकते हैं। कुछ नोट हैं जो केवल गवर्नर के सिग्नेचर की वजह से ही बिक जाते हैं। इन्ही में से एक है, अमिताभ घोस के सिग्नेचर वाला नोट जो काफी महँगा बिकता है। हालांकि इसकी असली कीमत क्या है, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है।

About admin

Check Also

मौत को छोड़ कर सभी रोगों को जड़ से खत्म कर देती है यह चीज

दक्षिण भारत में साल भर फली देने वाले पेड़ होते है. इसे सांबर में डाला …