Breaking News

इसको गाय के घी में घिसकर पैरों के तलवे पर लगाए फिर देखे इसका कमाल, ऐसे ही इसके 9 फ़ायदे आपको हैरानी में डाल देंगे

जायफल रूचि उत्पन्न करनेवाला, जठराग्नि, प्रदीपक तथा कफ और वायु का शमन करनेवाला है | जायफल जितना वयस्कों के लिए हितकर है, उतना ही बालकों के लिए भी हितकर है | यह ह्रदयरोग, दस्त, खाँसी, उलटी, जुकाम आदि में लाभदायी है |यूनानी मतानुसार जायफल पेशाब लाने वाले, दुग्धवर्धक, नींद लाने वाले, पाचक व पौष्टिक होते हैं | वजन में हलके, पोले और रूखे जायफल कनिष्ठ और बड़े, चिकने व भारी जायफल श्रेष्ठ माने जाते हैं |जायफल का पेड़ काफी बड़ा होता है। इसकी 80 जातियां मानी जाती हैं। भारत व मालद्वीप में कुल 30 जातियां पायी जाती हैं। आइए जाने जयफल के 9 फ़ायदों के बारे में…Image result for जायफल

जायफल के 9 फायदे

हिचकी :
तुलसी के रस में जायफल (jaiphal)को घिसकर एक चम्मच की मात्रा में 3 बार खायें। इससे हिचकी बंद हो जाती है।चावल के धुले पानी में जायफल को घिसकर पीने से हिचकी व उल्टी बंद हो जाती है।Image result for हिचकी

सिर दर्द :
कच्चे दूध में जायफल(jaiphal) घिसकर सिर में लगाएं। इससे बहुत आराम मिलेगा। सिर में दर्द होने पर जायफल को पानी में घिसकर माथे पर लेप की तरह लगाने से सिर का दर्द ठीक हो जाता है।Image result for सिर दर्द

मुंह के छाले :
जायफल (jaiphal)के काढे़ से 3-4 बार गरारें करें। इससे मुंह के छाले नष्ट हो जाते हैं।जायफल के रस में पानी मिलाकर कुल्ले करने से छाले ठीक हो जाते हैं।Image result for मुंह के छाले

बच्चों के दस्त :
जायफल को पानी में घिसकर आधा-आधा चम्मच 2-3 बार पिलाएं। इससे बच्चों का दस्त बंद हो जाता है।Image result for बच्चों के दस्त

पेट का फूलना, पेट में दर्द और पतले दस्त :
1 ग्राम जायफल के चूर्ण को आधे कप पानी के साथ दिन में सुबह और शाम पीयें इससे पेट का फूलना, पेट में दर्द और पतले दस्त बंद हो जाते हैं।Image result for पेट का फूलना

नींद न आना
गाय के घी में जायफल घिसकर पैर के तलुवों और आंखों की पलकों पर लगाएं, इससे नींद अच्छी आएगी। जायफल को जल या घी में घिसकर पलकों पर लेप की तरह लगाने से नींद जल्दी आ जाती है।Image result for नींद न आना

सर्दी व जुकाम :
जायफल को पानी में घिसकर लेप बना लें। इस लेप को नाक पर, नथुनों पर और छाती पर मलने से जल्दी आराम मिलेगा। साथ ही जायफल का चूर्ण सोंठ के चूरन के बराबर की मात्रा में मिलाकर एक चौथाई चम्मच 2 बार खिलायें। इससे सर्दी और जुकाम का रोग दूर हो जाता है।जायफल पिसा हुआ एक चुटकी की मात्रा में लेकर दूध में मिलाकर देने से सर्दी का असर ठीक हो जाता है। इसे सर्दी में सेवन करने से सर्दी नहीं लगती है।Image result for सर्दी व जुकाम

मुंहासे
कच्चे दूध में जायफल घिसकर रोजाना सुबह और रात में पूरे चेहरे पर लगाएं। इससे मुंहासें के अलावा चेहरे के काले धब्बे भी दूर होंगे और चेहरा भी निखर जायेगा। गैस, कब्ज की तकलीफ: नींबू के रस में जायफल घिसकर 2 चम्मच की मात्रा में सुबह-शाम भोजन के बाद सेवन करने से गैस, कब्ज की तकलीफ दूर होगी।Image result for मुंहासे

मुंह की दुर्गन्ध और फीकापन :
जायफल के छोटे-छोटे टुकड़ों को दिन में 2-3 बार चूसते रहने से मुंह की दुर्गन्ध और फीकापन दूर हो जाता है। जायफल के टुकड़े 240 से 360 मिलीग्राम की मात्रा में चबाने से मुंह की दुर्गन्ध दूर होती है। इसके सेवन से चक्कर एवं मुर्च्छा (बेहोशी) के लक्षण प्रकट हो सकते हैं।

About admin

Check Also

मौत को छोड़ कर सभी रोगों को जड़ से खत्म कर देती है यह चीज

दक्षिण भारत में साल भर फली देने वाले पेड़ होते है. इसे सांबर में डाला …