Breaking News

खुजली और फोड़ा-फुंसी को जड़ से मिटाने के लिए मात्र एक ग्लास ही काफी है

आज कल अधिकतर लोग खाज-खुजली से परेशान है।Image result for खाज-खुजली

 

लोग बहुत सारा पैसा खुजली से निजात पाने के लिए खर्च करते हैं लेकिन कोई फायदा नही मिल पाता है।

 

इसलिए इलाज करवाने से पहले यह जानना जरूरी है की इलाज कितना कारगर है।Image result for खाज-खुजली

खुजली और फोड़े-फुंसियों से छूटकारा पाने के लिए आयुर्वेद में एक अतिप्रभावशाली औषधि है जो खाज-खुजली को जड़ से मिटा देता है।

इसके साथ ही यह औषधि चेहरे पर होने वाले फोड़े और फुंसियों को भी मिटा देता है।Image result for खाज-खुजली

इस रामबाण औषधि का नाम चिरायता है जो सामान्य जड़ी-बूटी के दुकानों में भी आसानी से मिल जाता है।

आयुर्वेद के मतानुसार चिरायता का रस तीखा, गुण में लघु, प्रकृति में गर्म तथा कड़ुवा होता है।

चिरायता मन को प्रसन्न करता है। इसके सेवन से पेशाब खुलकर आता है।Image result for खाज-खुजली

यह सूजनों को पचाता है। दिल को मजबूत व शक्तिशाली बनाता है।

 

बनाने और सेवन करने के तरिका :
लगभग 5 से 10 ग्राम चिरायता को एक ग्लास पानी में रात को डुबो कर छोड़ दें और सुबह खाली पेट नित्य क्रिया के बाद चिरायता छान कर पानी पी ले।Image result for खाज-खुजली

 

2 से 3 महीने तक लगातार ऐसे ही सुबह-शाम चिरायते का सेवन करने से खाज-खुजली सदा के लिए ख़त्म हो जाता है।

तब तक खुजली से राहत के लिए कोई भी फफूंदरोधी मलहम का इस्तमाल कर सकते हैं।
त्वचा सम्बंधी अन्य रोग :
खुजली, फोडे़ फुन्सी जैसे रोगों में चिरायता का लेप लगाना चाहिए।Image result for खाज-खुजली

इससे ये सभी रोग नष्ट हो जाते हैं।

रात को पानी में चिरायते की पत्ती को डालकर रख दें।

रोजाना सुबह उठते ही इसका पानी पीने से खून साफ हो जाता है और त्वचा के रोग मिट जाते हैं।

1 चम्मच चिरायता 2 कप पानी में रात को भिगोकर सुबह के समय छानकर सेवन करें।Image result for  खाज-खुजली

इससे फोड़े-फुन्सी, यकृति-विकार, जी मिचलाना, भूख न लगना आदि रोगों में लाभ होता है। यदि कड़वा पानी पिया नहीं जा सके तो स्वादानुसार मिश्री मिलाकर पीते हैं।

About admin

Check Also

मौत को छोड़ कर सभी रोगों को जड़ से खत्म कर देती है यह चीज

दक्षिण भारत में साल भर फली देने वाले पेड़ होते है. इसे सांबर में डाला …