Breaking News

प्रद्युम्न हत्याकांड : सनसनीख़ेज खुलासा, इस वजह से दोस्त ने ही किया था मासूम का कत्ल?

गुरुग्राम – रायन इंटरनेशनल स्कूल में हुआ प्रद्युम्न हत्याकांड जितना हैरान करने वाला था, सीबीआई की जांच का नतीजा भी उससे भी कहीं ज्यादा हैरान करने वाला है। सीबीआई ने हरियाणा पुलिस की कंडक्टर और यौन उत्पीड़न वाली थ्योरी के बिल्कुल उलट इस मामले में एक नई थ्योरी सामने रखी है। . सीबीआई ने इस मामले में स्कूल के 11वीं क्लास के एक स्टूडेंट को ये दावा करते हुए गिरफ्तार किया है कि इस छात्र ने स्कूल की परीक्षा और पैरंट्स-टीचर मीटिंग को टालने के लिए मासूम प्रद्युम्न का कत्ल किया है।

 आरोपी छात्र ने कबूला अपना जुर्म

सीबीआई ने हरियाणा पुलिस की जांच पर सवाल उठाते हुए कहा है कि कंडक्टर पुरी तरह से निर्दोष है, क्योंकि गिरफ्तार किए गए इस  छात्र ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक गिरफ्तार किया गया छात्र मानसिक रुप से अस्वस्थ है और उसका इलाज भी चल रहा था। जांच एजेंसी के अधिकारियों के मुताबिक सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद इस छात्र पर शक हुआ, जिसके बाद 11वीं के सभी स्टूडेंट्स से पूछताछ की गई, तो इसका नाम सामने आया। जांच एजेंसी के अधिकारियों के मुताबिक इस छात्र से 15 दिनों तक पूछताछ कि गई जिसके बाद इसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।Image result for सीबीआई

 

परीक्षा और पैरंट्स-टीचर मीटिंग टालने के लिए मर्डर

मासूम प्रद्युमन की हत्या की वजह सबसे चौकाने वाली है। सीबीआई ने जांच के आरोपी छात्र के दो दोस्तो ये बात जानते थे कि वो प्रद्युमन की हत्या करने वाला है। आरोपी छात्र ने दोस्तों से कहा था कि वह जल्द ही कुछ ऐसा करने वाला है जिससे परीक्षाएं टल जाएंगी। सीबीआई के मुताबिक, छात्र ने प्रद्युमन की हत्या एक दिन पहले ही चाकू खरीदा था और हत्या वाले दिन वह अपने बैग में चाकू लेकर स्कूल आया था। वहीं कुछ लोगों का ये कहना है कि वह हमेशा ही चाकू लेकर स्कूल में आता था। प्रद्युम्न की हत्या करने के बाद उसने चाकू को टॉयलेट में ही फ्लश कर दिया था। ये बात भी सामने आई है कि वह एक दो बार प्रद्युमन के साथ भी देखा जा चुका है।

पुलिस जाँच में आया था बस कंडक्टर का नाम

आपको बता दें कि इस घटना के बाद जब पुलिस ने जांच की थी तो उसकी जांच में सबसे पहले बस कंडक्टर अशोक कुमार का नाम आया था और पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। उस वक्त आरोपी ने हत्या की बात कबूल की थी, लेकिन बाद में वह अपने बयान से पलट गया था। बस कंडक्टर ने कहा था कि दबाव में आकर उसने हत्या की बात स्वीकार की थी। इसके बाद भारी दबाव के बीच इस मामले की जांच सीबीआई को दी गई थी। सीबीआई ने इस मामले में बस कंडक्टर के साथ ही स्कूल के माली हरपाल, टीचर, नॉन टीचिंग स्टाफ और मैनेजमेंट जुड़े कई लोगों से पूछताछ की है। यहां तक की सीबीआई ने बस कंडक्टर और माली के साथ रेयान इंटरनेशनल स्कूल जाकर क्राइम सीन रिक्रिएट किया था। जिस टॉयलेट में वारदात को अंजाम दिया गया वहां भी जांच की गई।

About admin

Check Also

मौत को छोड़ कर सभी रोगों को जड़ से खत्म कर देती है यह चीज

दक्षिण भारत में साल भर फली देने वाले पेड़ होते है. इसे सांबर में डाला …