Breaking News

भारतीय लड़के ने बनाया नया मुल्क, पापा को राष्ट्रपति नियुक्त कर खुद बना राजा

हमारे मुल्क में जहां ज़मीन के एक एक हिस्से के लिए लूट मची है .. लोग अपनों के दुश्मन बने बैठें हैं वहीं देश के एक नौजवान इससे इतर कुछ अलग ही सोचा और देश के बाहर एक पूरे मुल्क का मालिक बन बैठा .. जी हां , सुनने में आपको भले ही थोड़ा अजीब लगे लेकिन, ये सच है। दरअसल इंदौर के रहने वाले सुयश दिक्षित ने एक जगह देखी जो इजिप्ट और सुडान के बीच में पड़ती है जिसमें किसी भी देश का मालिकाना हक नहीं था .. वहां उसने अपना देश बना लिया है और नाम ‘किंगडम ऑफ दीक्षित’ रखा है।

सुयश ने फेसबुक पर इस चीज का एलान किया है.. सुयश ने खुद को राजा घोषित करते हुए झंडा भी लहरा दिया है। अब वो चाहता है कि यूएन इस इलाके के लिए मान्यता दे। वैसे आपको बता दें, जिस इलाके को सुयश ने ‘किंगडम ऑफ दीक्षित’ रखा है उसका असली नाम ताविल है।

ऐसे हासिल किया यहां का मालिकाना 

असल मे मध्य प्रदेश के इंदौर के रहने वाले सुयश दीक्षित हाल ही में ऑफिशियल ट्रिप पर इजिप्ट गए हुए थे। इजिप्ट और सूडान के बीच में करीब 800 स्क्वॉयर मील की एक जगह ऐसी है जिस पर कोई भी देश दावा नहीं करता है। इसे बीर ताविल कहते हैं.. यहां कोई नहीं रहता है.. यह रेगिस्तान और बंजर इलाका है। सुयश ने इस जगह के बारे में पढ़ रखा था और पर्याप्त जानकारी जुटा रखी थी। ऐसा माना जाता है कि अगर किसी नोमेंस लैंड पर जाकर आप दावा करते हैं तो वह जगह आपकी हो जाती है। सुयश ने भी यही किया। उस जगह पर जाकर अपना झंडा गाड़ा। जमीन में बीज रोपा और खुद को उस जगह का राजा घोषित कर दिया। जगह का नाम रखा किंगडम ऑफ दीक्षित, जिसकी राजधानी है सुयशपुर।

राजा बनने के लिए की ऐसी प्लानिंग

वैसे राजा बनने के लिए सुयश ने पूरी प्लानिंग के तहत काम किया है।दरअसल यह इलाका खतरनाक माना जाता है, क्योंकि आसपास इलाकों में आतंकियों के ठिकाने हैं। ऐसे में  सुयश का कहना है कि अगर वह अपने घरवालों को बताकर ऐसी जगह जाते तो वे कभी इजाजत नहीं देते। लेकिन उन्होंने अपने भाई को इसके बारे में बताया और वहां जाने की प्लानिंग की। सुयश बताते हैं कि वहां जाने के लिए उन्हें इजिप्ट की पुलिस से इजाजत लेनी पड़ी। पुलिस ने बड़ी मिन्नतों के बाद इजाजत दी। सुयश ने पुलिस को बताया था कि वह इंडिया से आए हैं और बस उस इलाके में जाकर घूमना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने एक कार को हायर किया और उनके साथ ड्राइवर मुस्तफा गया। सुयश को पुलिस ने शर्तों के साथ उस इलाके में जाने दिया। पहली शर्त ये कि वह सूरज ढलने से पहले ही लौट आएंगे और दूसरी ये कि गाड़ी की हेडलाइट नहीं जलाएंगे और तीसरी सैन्य ठिकाने की तस्वीर नहीं लेंगे।

वहां पहुंचने के लिए खतरनाक परिस्थितियों में किया 319 किलोमीटर का सफर

सुयश ने फेसबुक पर खुद को राजा घोषित करते हुए कहा है कि  ‘मैंने यहां तक पहुंचने के लिए 319 किलोमीटर का सफर तय किया है.. जब मैं इजिप्ट से निकला तो वहां शूट एंड साइट के ऑर्डर थे.. मैं बड़ी मुश्किल से वहां से निकलकर यहां पहुंचा. यहां आने के लिए सड़क भी नहीं थी.. ये इलाका पूरा रेगिस्तान से भरा है… यहां 900 स्क्वायर फीट का इलाका किसी देश का नहीं है. यहां आराम से रहा जा सकता है. मैंने यहां पौधे लगाने के लिए बीज डालकर पानी डाला है.’

पिता को बनाया प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मिलिट्री हेड

सुयश ने ‘किंडम ऑफ दीक्षित’ की घोषणा करने के बाद अपने पिता को प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मिलिट्री हेड बनाया है. वहीं उसने खुद को राजा बनाया है. यही नहीं उन्होंने इस देश की वेबसाइट (https://kingdomofdixit.gov.best) भी तैयार की है. उन्होंने कहा- मेरे देश में अभी कई पद खाली हैं… कोई भी अपलाय कर सकता है जिसपर वो विचार करेंगे।

कुछ ऐसा है ये नया मुल्क

सुयश ने अपनी वेबसाइट पर इस नए मुल्क के बारे में जो बातें बताई हैं उसके अनुसार कुछ ऐसा है धरती का नया मुल्क..

  • देश की कुल जनसंख्या सिर्फ 1 है।
  • इस देश की राजधानी का नाम सुयशपुर है।
  • इस देश की स्थापना 5 नवंबर 2017 को हुई।
  • सुयश ने देश का राष्ट्र पशु छिपकली को चुना है. क्योंकि वहां सिर्फ उन्हें छिपकली ही दिखीं हैं।

About admin

Check Also

मौत को छोड़ कर सभी रोगों को जड़ से खत्म कर देती है यह चीज

दक्षिण भारत में साल भर फली देने वाले पेड़ होते है. इसे सांबर में डाला …