Breaking News

ये सब्जी 3 दिन में पथरी को तो 1 दिन में गांठ को गला देती है, गठिया और बालों के लिए भी किसी वरदान से कम नही

तोरई एक प्रकार की सब्जी होती है और इसकी खेती भारत में सभी स्थानों पर की जाती है। पोषक तत्वों के अनुसार इसकी तुलना नेनुए से की जा सकती है।

वर्षा ऋतु में तोरई की सब्जी का प्रयोग भोजन में अधिक किया जाता है।

तोरई मीठी व कड़वी दो तरह की होती है इसकी प्रकृति ठंडी और तर होती हैImage result for तोरई

तोरई के अद्भुत फायदे

पथरी
तोरई की बेल गाय के दूध या ठंडे पानी में घिसकर रोज सुबह के समय में 3 दिन तक पीने से पथरी गलकर खत्म होने लगती है।

फोड़े की गांठ
तोरई की जड़ को ठंडे पानी में घिसकर फोड़ें की गांठ पर लगाने से 1 दिन में फोड़ें की गांठ खत्म होने लगता है।Image result for तोरई

चकत्ते

तोरई की बेल गाय के मक्खन में घिसकर 2 से 3 बार चकत्ते पर लगाने से लाभ मिलता है और चकत्ते ठीक होने लगते हैं।

पेशाब की जलन

तोरई पेशाब की जलन और पेशाब की बीमारी को दूर करने में लाभकारी होती है।Image result for तोरई

आंखों के रोहे तथा फूले

आंखों में रोहे (पोथकी) हो जाने पर तोरई (झिगनी) के ताजे पत्तों का रस को निकालकर रोजाना 2 से 3 बूंद दिन में 3 से 4 बार आंखों में डालने से लाभ मिलता है।

बालों को काला करना

तुरई के टुकड़ों को छाया में सुखाकर कूट लें। इसके बाद इसे नारियल के तेल में मिलाकर 4 दिन तक रखे और  फिर इसे उबालें और छानकर बोतल में भर लें। इस तेल को बालों पर लगाने और इससे सिर की मालिश करने से बाल काले हो जाते हैं।Image result for तोरई

बवासीर (अर्श)

तोरई की सब्जी खाने से कब्ज ठीक होती है और बवासीर में आराम मिलता है।

कडवी तोरई को उबाल कर उसके पानी में बैंगन को पका लें। बैंगन को घी में भूनकर गुड़ के साथ भर पेट खाने से दर्द तथा पीड़ा युक्त मस्से झड़ जाते हैं।Image result for तोरई

गठिया (घुटनों के दर्द में) रोग

पालक, मेथी, तोरई, टिण्डा, परवल आदि सब्जियों का सेवन करने से घुटने का दर्द दूर होता है।

कृपया इन बातों का ध्यान रखें

तोरई कफ तथा वात उत्पन्न करने वाली होती है अत: जरूरत से अधिक इसका सेवन करना हानिकारक हो सकता है।Image result for तोरई

तोरई पचने में भारी और आमकारक है। वर्षा ऋतु में तोरई का साग रोगी व्यक्तियों के लिए लाभदायक नहीं होता है।

About admin

Check Also

मौत को छोड़ कर सभी रोगों को जड़ से खत्म कर देती है यह चीज

दक्षिण भारत में साल भर फली देने वाले पेड़ होते है. इसे सांबर में डाला …