Breaking News

रात को सोते वक़्त सिर्फ़ 1 इलाइची चबाने से जो फ़ायदा होगा वो आपने कभी सोचा नही होगा, जान गये तो आज से शुरू हो जाओगे

प्रकृति से इतना दूर हो जाने से सीधा प्रभाव मनुष्य की नींद पर पड़ता है. इसके अलावा भोजन और दिनचर्या का भी असर मनुष्य की नींद पर प्रमुख तौर पर देखने को मिलता है.Image result for 1 हरी इलाइची

हर व्यक्ति की निद्रा की आवश्यकता अलग-अलग होती है. कुछ लोग सिर्फ़ 6 घंटे की नींद से तरो-ताज़ा महसूस करते हैं जबकि कइयों में यह आवश्यकता 10 घंटे तक भी जाती है. पर औसतन मनुष्य 6-8 घंटे तक ही सोते हैं. अनिद्रा के कारण काम करते वक़्त तनाव बढ़ जाता है अत्यंत दुष्कर स्थिति की तरह प्रतीत होता है.Image result for 1 हरी इलाइची

अनिद्रा के अनेक कारण हैं. परंतु मुख्य कारण मानसिक परेशानी है. किसी भी प्रकार की दर्द, असुविधाजनक मौसीम और वातावरण. अधिक परिश्रम और अत्यंत तनाव व्यक्ति, पेट में गड़बड़ी, क़ब्ज़, अनियमित खानपान की वजह से भी यह शिकायत बढ़ जाती है। इलाइची वाला दूध पीने से नींद नही आने की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। इससे बहुत जल्द, गहरी और अच्छी नींद आएगी, इसके अलावा ये सुबह पेट साफ़ करने में भी फ़ायदेमंद है क्यूँकि ये क़ब्ज़ को दूर करती है। यह उपाय याददाश्त बढ़ाने में भी काफ़ी हद तक कारगर है।Image result for 1 हरी इलाइची

अनिद्रा के घेरलू उपाय :

1 हरी इलाइची

चबा कर उसके ऊपर एक गिलास गर्म दूध पीने से या इलाइची वाला दूध 

पीने से नींद नही आने की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। इससे बहुत जल्द, गहरी और अच्छी नींद आएगी, इसके अलावा ये सुबह पेट साफ़ करने में भी फ़ायदेमंद है क्यूँकि ये क़ब्ज़ को दूर करती है। यह उपाय याददाश्त बढ़ाने में भी काफ़ी हद तक कारगर है।Image result for 1 हरी इलाइची

1 चम्मच मुलेठी का पाउडर 1 गिलास दूध के साथ प्रातः काल सेवन करना चाहिए.

3 ग्राम पुदीने के पत्ते लेकर 1 कप पानी में 15-20 मिनट तक उबालें. रात्रि को सोने से पहले एक चम्मच शहद के साथ कुनकुने होने पर सेवन करें.

सोने से पहले नारियल या सरसों तेल से पैरों और पिंडलियों में मालिश करना अत्यंत लाभकर है.Image result for 1 हरी इलाइची

1 चम्मच ब्राहमी और अश्वगंधा का पाउडर 2 कप पानी आधा रह जाने तक उबालें. रोज़ सुबह इसका सेवन करना लाभदायक है.

कटे हुए केले पर पीसा हुआ ज़ीरा डाल कर प्रति रात्रि शयन से पूर्व खाना भी नींद लाने में सहायक है.

इन बातों का ख्याल रखे :

गाय के दूध से निर्मित माखन का उपयोग करें.

शराब, कॅफीन युक्त पदार्थ और शीत कार्बोननटेड पेय का सेवन ना करें.

कंप्यूटर, मोबाइल और टी वी का प्रयोग कम से सोने से 2 घंटे पूर्व ना करें.

रात्रि का खाना सोने से कम से कम 3 घंटे पहले हो जाना चाहिए.

तिल तेल से मालिश और गर्म पानी से स्नान अनिद्रा दूर करने में सहायक हैं.

About admin

Check Also

मौत को छोड़ कर सभी रोगों को जड़ से खत्म कर देती है यह चीज

दक्षिण भारत में साल भर फली देने वाले पेड़ होते है. इसे सांबर में डाला …