Breaking News

फिर रुलाने वाला है प्याज , हो जाये त्यार बढ़ने वाले है दाम

प्याजइमेज कॉपीरइटAFP

महाराष्ट्र की लासलगांव प्याज़ मंड़ी के अधिकारियों के मुताबिक़ बीते दस दिनों में प्याज़ के दाम 1600 रुपए प्रति क्विटंल से बढ़कर 2500-3000 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गए हैं.

एशिया की इस सबसे बड़ी प्याज़ मंडी के थोक व्यापारियों का कहना है कि नवंबर महीने के आख़िर तक प्याज़ और महंगा होता रहेगा.

लासलगांव एग्रीकल्चर प्रॉड्यूस मार्केट कमिटी के थोक व्यापारियों का कहना है कि मांग और आपूर्ति में बढ़ते फ़ासले के कारण प्याज़ के दाम बढ़ रहे हैं.Image result for महाराष्ट्र की लासलगांव प्याज मंडी

लासलगांव में प्याज़ की पिछली फसल चार महीने पहले आई थी. तब प्याज़ के दाम 400 रूपये प्रति क्विंटल थे. लेकिन, पिछले दस दिनों में प्याज़ की कीमतों में औसतन 70 से 80 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हो गई है .

नासिक में प्याज़ आज खुदरा बाज़ार में 40-50 रूपये प्रति किलो तक बिक रहा है.

पैदावार बढ़ने से भी परेशान हैं एमपी-महाराष्ट्र के किसान

प्याज़इमेज कॉपीरइटAFP

खुदरा बाजारों में बढ़ेंगे दाम

सोमवार को लासलगांव मंडी में प्रति क्विंटल प्याज़ 2415 रूपये में बिक रहा था वहीं, पिछले हफ्ते शुक्रवार को यही प्याज़ औसतन 2,020 रूपए क्विंटल था.

लासलगांव प्याज़ मंडी में विक्रेताओं का कहना है कि पिछले दो से तीन दिनों में ही प्याज़ के दाम चढ़े हैं. इन बढ़े दाम का असर कुछ दिनों में खुदरा बाज़ार में दिखने लगेगा.Image result for महाराष्ट्र की लासलगांव प्याज मंडी

लासलगांव एग्रीकल्चर प्रॉड्यूस मार्केट कमिटी के अध्यक्ष जयदत्ता होलकर बताते हैं, “दक्षिण भारत में बारिश की वजह से प्याज़ की फसल खराब हो गई है. मध्य प्रदेश में भी प्याज़ की कमी है. आपूर्ती और मांग में अंतर के कारण प्याज़ के दाम नासिक थोक बाज़ार में भी बढ़े हैं. लासलगांव और अन्य ज़िलों में मौजूद एपीएमसी दिवाली के पूरे हफ्ते प्याज़ की नीलामी नहीं करेंगे, और यह भी एक वजह है की विक्रेताओं ने प्याज़ के दाम बढ़ा दिए हैं.”Image result for महाराष्ट्र की लासलगांव प्याज़ मंड़ी

जानकारों के मुताबिक नासिक में खुदरा बाज़ार में प्याज की क़ीमतें अभी और भी बढ़ सकती हैं.

दिल्ली की आज़ादपुर मंडी में प्याज़ व्यापारी संघ के अध्यक्ष सुरेंद्र बुद्धिराजा का कहना है कि आज़ाद पुर मंडी में इस वक्त प्याज़ 20 से 30 रूपये किलो बिक रहा है , लेकिन वो कहते हैं कि दिवाली के बाद यही दाम मंडी में 50 रूपए तक पहुंच सकते हैं.

इसका असर दिल्ली के खुदरा बाज़ार में प्याज़ के दामों पर पड़ेगा.

महाराष्ट्र में हड़ताल पर किसान, भारी संकट की आशंका

प्याज़इमेज कॉपीरइटAFP

मांग ज्यादा, आपूर्ति कम

सोमवार को लासलगांव मंडी में करीब 8,000 क्विंटल प्याज की बोली लगी. शुक्रवार को लासलगांव एपीएमसी में 21,000 क्विंटल प्याज की बोली लगी थी.

लेकिन, व्यापारियों का कहना है कि इतना प्याज़ मांग के हिसाब से काफी नहीं है. दरअसल, अभी जो प्याज बाज़ार में आ रहा है उसकी खेती मार्च-अप्रैल में हुई थी और गर्मी की फसल पांच से छह महीने ही ठीक रह पाती है.

लासलगांव मंडीं में काम करने वाले थोक विक्रेता नंद कुमार दागे ने बताया कि “अभी प्याज़ की नई खेप आने में एक महीने का वक्त लगेगा, तब तक प्याज़ के दाम बढ़ते रहेंगे.”Image result for महाराष्ट्र की लासलगांव प्याज़ मंड़ी

भारतीय व्यापार मंडल में वित्तीय सलाहकार जी चंद्रशेखर का मानना है कि प्याज़ के दामों में बढ़ोत्तरी का मुख्य कारण कर्नाटक, महाराष्ट्र में हुई बे-मौसम बरसात है, जिससे फसल को काफी नुकसान पहुंचा है .

प्याज़ के दामों में बढ़ोतरी के राजनीतिक प्रभाव के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि, जब तक प्याज़ के दाम 80 से 100 रूपये के आसपास नहीं पहुंच जाते तब तक राजनीतिक असर नहीं होगा.

लोकिन, दाम ज्यादा न बढ़े इसके लिए सरकार को इस बढ़ोत्तरी पर नज़र रखनी पड़ेगी.Image result for महाराष्ट्र की लासलगांव प्याज़ मंड़ी

उनका ये भी मानना है कि नवंबर के पहले हफ्ते में जब फसल की नई पैदावार आना शुरू होगी तब दाम में कमी ज़रूर आएगी.

About admin

Check Also

ਗਰਮੀ ਦੇ ਮੌਸਮ ਵਿਚ ਸਿਰਫ 2 ਮਿੰਟ ਵਿਚ ਬਣਾਓ ਇਹ ਖਾਸ Hairstyles ਵੀਡੀਓ ਦੇਖੋ ਅਤੇ ਸ਼ੇਅਰ ਕਰੋ

ਵੀਡੀਓ ਥੱਲੇ ਜਾ ਕੇ ਦੇਖੋ ਦੋਸਤੋ ਪੰਜਾਬੀ ਰਸੋਈ ਦੇਸੀ ਤੜਕਾ ਪੇਜ਼ ਤੇ ਤੁਹਾਡਾ ਸੁਆਗਤ ਹੈ …